गढ़वाल: 3 जिलों में सीरियल चोरी से मचाया हड़कंप..गिरफ्तार हुआ कश्मीरी गैंग का शौकत अली

पौड़ी, रुद्रप्रयाग और चमोली में चोरी की वारदातों को अंजाम देने वाले कश्मीरी गैंग का एक सदस्य पुलिस के हत्थे चढ़ गया। पूछताछ में आरोपी ने कई बड़े खुलासे किए।

उत्तराखंड के तीन जिलों में सीरियल चोरियां करने वाले कश्मीरी गैंग का एक सदस्य पुलिस के हत्थे चढ़ गया। रुद्रप्रयाग पुलिस ने कश्मीरी गैंग के एक सदस्य को पकड़ा है। उम्मीद है आरोपी से पूछताछ के बाद पुलिस गिरोह के दूसरे सदस्यों तक पहुंचने में भी कामयाब रहेगी। ये गिरोह रुद्रप्रयाग, चमोली और श्रीनगर में चोरी की कई वारदातों को अंजाम दे चुका है। रुद्रप्रयाग पुलिस ने आरोपी की गिरफ्तारी के बाद कई अहम खुलासे किए। गिरफ्तार आरोपी का नाम शौकत अली पुत्र मोहम्मद अमीन है। वो मूलरूप से जम्मू के डोडा क्षेत्र का रहने वाला है। पुलिस ने उसे पिलंग, चमोली से गिरफ्तार किया। पुलिस आरोपी तक पहुंची कैसे, ये भी बताते हैं।

यह भी पढ़ें - पहाड़ के दशौली गांव की दिव्या बनी असिस्टेंट प्रोफेसर..UKPSC परीक्षा में हासिल की दूसरी रैंकिग
बीते 17 अक्टूबर को रुद्रप्रयाग में रहने वाली मुन्नी देवी के घर से गहने और नगदी चोरी हो गई थी। इस मामले में एसपी के निर्देश पर आरोपियों की धरपकड़ के लिए एक टीम गठित की गई। कई दिन की मेहनत के बाद पुलिस आखिरकार चोरी के एक आरोपी शौकत अली तक पहुंचने में कामयाब रही। पूछताछ में शौकत ने कई खुलासे किए। उसने बताया कि 17 अक्टूबर को उसने अपने साथी जावेद अहमद बट्ट उर्फ मेराजुद्दीन के साथ मिलकर मुन्नी देवी के घर में चोरी की थी। वारदात के बाद दूसरा आरोपी जावेद जम्मू चला गया था। दोनों आरोपी रुद्रप्रयाग के कमेड़ा में टावर का काम करते थे। इस बीच मौका देखकर उन्होंने मुन्नी देवी के घर में चोरी की वारदात को अंजाम दिया।

यह भी पढ़ें - कोरोना 2: उत्तराखंड में ब्रिटेन से लौटे अब तक 227 लोग, बाकियों की जांच पूरी..41 लोग गायब?
पुलिस ने आरोपी शौकत के पास से 9 हजार की नगदी भी बरामद की। फिलहाल आरोपी चमोली में टावर का काम कर रहा था। पूछताछ में आरोपी ने श्रीनगर, रुद्रप्रयाग और चमोली में चोरी की कई घटनाओं में शामिल होने की बात कबूली है। फिलहाल पुलिस आरोपी से पूछताछ कर रही है। पुलिस ने दूसरे आरोपी जावेद को भी जल्द गिरफ्तार कर लेने का दावा किया है। आप भी इस घटना से सबक लें। अपने घरों के आसपास किसी संदिग्ध व्यक्ति को घूमता देखें तो पुलिस को सूचना दें। बाहरी राज्यों के लोगों को काम पर रखने से पहले उनका पुलिस वेरिफिकेशन जरूर कराएं।

Latest Uttarakhand News

Disclaimer

हम वेबसाइट पर डाटा संग्रह टूल्स, जैसे कुकीज के माध्यम से आपकी जानकारी एकत्र करते हैं ताकि आपको बेहतर अनुभव प्रदान कर सकें, ट्रैफिक का विश्लेषण कर सकें, कॉन्टेंट व्यक्तिगत तरीके से पेश कर सकें और हमारे पार्टनर्स, जैसे की Google के साथ लक्षित विज्ञापन पेश करने के लिए उपयोग कर सकें। हमारी Privacy Policy और Terms & Conditions पढ़ें, और अपनी सहमति देने के लिए Agree पर क्लिक करें।