रुद्रप्रयाग: केदारनाथ रुट पर जाने वाले लोग ध्यान दें..रोड को 1 महीने के लिए बंद करने की तैयारी

राज्य सरकार द्वारा रुद्रप्रयाग के केदारनाथ राष्ट्रीय राजमार्ग को 1 महीने के लिए बंद करने की तैयारी की जा रही है।

उत्तराखंड से एक बड़ी खबर सामने आई है। रुद्रप्रयाग में केदारनाथ राष्ट्रीय राजमार्ग को 1 महीने के लिए बंद करने की तैयारी की जा रही है और इसका परिणाम यह होगा कि यहां से गुजरने वाले लोगों को 15 किलोमीटर का अतिरिक्त रास्ता तय करना पड़ेगा। जी हां, रुद्रप्रयाग के पास केदारनाथ राष्ट्रीय राजमार्ग पर 1 महीने के लिए सभी वाहनों की आवाजाही पर रोक लगाने की तैयारियों में प्रशासन जुटा हुआ है। यह निर्णय ऑल वेदर रोड परियोजना के तहत रोड कटिंग के कार्य को लेकर लिया गया है और इसका अंजाम उन सभी लोगों को भुगतना पड़ेगा जो इस मार्ग से आवाजाही करते हैं। अब इस मार्ग से आवाजाही करने वाले लोगों को 15 किलोमीटर की अधिक दूरी तय करनी पड़ेगी। आने वाले 1 महीने तक इस मार्ग से गुजरने वाले वाहनों को वैकल्पिक मार्ग से केदारनाथ धाम के प्रमुख पड़ाव गौरीकुंड में भेजा जाएगा और इसके लिए वाहनों को 15 किलोमीटर की अतिरिक्त दूरी तय करनी पड़ेगी। आपको बता दें कि ऋषिकेश-देवप्रयाग के बीच में स्थित तोताघाटी में पहले ही 31 मार्च तक आवाजाही पर रोक लग चुकी है। यहां पर भी सड़क कटिंग का काम जोरों-शोरों से चल रहा है।

यह भी पढ़ें - उत्तराखंड: कुख्यात बदमाश की गिरफ्तारी के बाद पुलिस अफसर को मिली धमकी
ऑल वेदर रोड परियोजना का काम उत्तराखंड में तेजी से चल रहा है और इसी परियोजना के तहत विभिन्न स्थानों पर बद्रीनाथ और केदारनाथ राष्ट्रीय राजमार्ग के चौड़ीकरण का कार्य भी तेजी से चल रहा है। चार धाम की यात्रा बस शुरू ही होने वाली है और राज्य सरकार यह प्रयास कर रही है कि चारधाम यात्रा शुरू होने से पहले ही सभी सड़कों का निर्माण कार्य पूरा हो जाए ताकि यात्रियों को आवाजाही में किसी भी प्रकार की दिक्कत ना हो और इसीलिए बद्रीनाथ और केदारनाथ राष्ट्रीय राजमार्ग को चौड़ा करने का कार्य जोरों-शोरों से चल रहा है। राज्य सरकार प्रयास कर रही है कि चारधाम यात्रा शुरू होने से पहले ऑल वेदर रोड परियोजना के तहत होने वाले सभी निर्माण कार्य पूरे हो जाए और सड़कों का चौड़ीकरण का काम भी पूरा हो जाए।

यह भी पढ़ें - उत्तराखंड में 1 अप्रैल से खुल सकते हैं प्राथमिक स्कूल..सरकार से मिले संकेत
राष्ट्रीय राजमार्ग खंड के अधिशासी अभियंता जितेंद्र त्रिपाठी ने बताया कि रुद्रप्रयाग से 4 किलोमीटर दूर नेल नामक स्थान पर रोड कटिंग का कार्य किया जाना है, जिसके कारण केदारनाथ राष्ट्रीय राजमार्ग पर 1 महीने के लिए वाहनों के संचालन पर रोक लगाने की तैयारी की जा रही है और इस दौरान इस मार्ग से आने-जाने वाले वाहनों को वैकल्पिक मार्ग से केदारनाथ धाम के प्रमुख पड़ाव गौरीकुंड में भेजा जाएगा। उन्होंने बताया कि रोड कटिंग का कार्य इस समय चुनौती बना हुआ है क्योंकि नेल के पास कठोर चट्टान होने के कारण रोड कटिंग में दिक्कत आ रही है। मार्ग पर यातायात के कारण दिन के समय रोड कटिंग का कार्य संभव नहीं है इसीलिए रूट को डाइवर्ट किया जा रहा है। इसके लिए पुलिस और रुद्रप्रयाग जिला प्रशासन की आपसी सहमति बन गई है और जल्द ही रूट डायवर्जन की तारीख का ऐलान कर दिया जाएगा। गौरमतलब है कि गंगोत्री और यमुनोत्री के कपाट 14 मई केदारनाथ के 17 और बद्रीनाथ के कपाट 18 मई को खोले जाने हैं। यात्रा शुरू होने में 2 महीने का समय बचा हुआ है ऐसे में राज्य सरकार यह प्रयास कर रही है कि इन 2 महीनों के अंदर-अंदर रोड कटिंग का कार्य तय समय में पूरा कर लिया जाए ताकि चार धाम यात्रा के दौरान श्रद्धालुओं को आवाजाही में किसी भी प्रकार की दिक्कत का सामना न करना पड़े।

Latest Uttarakhand News

Disclaimer

हम वेबसाइट पर डाटा संग्रह टूल्स, जैसे कुकीज के माध्यम से आपकी जानकारी एकत्र करते हैं ताकि आपको बेहतर अनुभव प्रदान कर सकें, ट्रैफिक का विश्लेषण कर सकें, कॉन्टेंट व्यक्तिगत तरीके से पेश कर सकें और हमारे पार्टनर्स, जैसे की Google के साथ लक्षित विज्ञापन पेश करने के लिए उपयोग कर सकें। हमारी Privacy Policy और Terms & Conditions पढ़ें, और अपनी सहमति देने के लिए Agree पर क्लिक करें।