उत्तराखंड: 3 दिन में 9 पुलिसकर्मी कोरोना पॉजिटिव..कोरोना का नए स्ट्रेन हुआ खतरनाक

कोरोना संक्रमण के दौर में सुरक्षित कुंभ का आयोजन दोहरी चुनौती बना हुआ है। पिछले तीन दिन में कुंभ क्षेत्र में तैनात 9 पुलिसकर्मी कोरोना पॉजिटिव पाए गए। आगे पढ़िए पूरी रिपोर्ट

प्रदेश में कोरोना संक्रमितों की संख्या में इजाफा होता जा रहा है। हर दिन सैकड़ों की तादाद में लोग कोरोना संक्रमित मिल रहे हैं। कोरोना संक्रमण का सबसे ज्यादा खतरा उन लोगों को है, जो फ्रंट लाइन पर सेवाएं दे रहे हैं। नए स्ट्रेन के बढ़ते कहर के बीच इस वक्त हजारों जवान कुंभ क्षेत्र में डटे हुए हैं, ताकि कुंभ सफल होने के साथ ही सुरक्षित भी बना रहे। अपने घर-परिवार से दूर रहकर कुंभ क्षेत्र में डटे इन जवानों के लिए खुद को कोरोना से बचाए रखना सबसे बड़ी चुनौती है। पिछले तीन दिन में कुंभ ड्यूटी में तैनात 9 पुलिसकर्मी कोरोना संक्रमित पाए गए। इस तरह आप समझ सकते हैं कि पुलिसकर्मी कितने बड़े संकट से जूझ रहे हैं। जवानों के लिए यहां भीड़ नियंत्रण के साथ ही खुद को सुरक्षित रखना बड़ी चुनौती बना हुआ है। एक के बाद एक कई पुलिसकर्मियों के कोरोना संक्रमित मिलने से मेला पुलिस की परेशानी बढ़ने लगी है। सकुशल कुंभ आयोजन की सबसे अधिक जिम्मेदारी पुलिस और अर्द्ध सैनिक बलों के जवानों पर है।

यह भी पढ़ें - पहाड़ में शादी के नाम पर मानव तस्करी का खेल, पढ़िए इन्द्रेश मैखुरी का ब्लॉग
चिलचिलाती धूप में जब हम घरों में एसी-पंखे के नीचे बैठे होते हैं, तब ये जवान बंदूक थाम कर ड्यूटी कर रहे होते हैं। उन्हें श्रद्धालुओं की भीड़ नियंत्रित करने के साथ ही खुद को कोरोना से बचाने की दोहरी चुनौती से गुजरना पड़ रहा है। जवानों के लिए खाना भी सामूहिक तौर पर कंपनी के मेस में तैयार होता है। रहने के लिए टेंट क्षेत्र में व्यवस्था की गई है। यहां कोविड से बचाव के लिए शारीरिक दूरी के लिहाज से टेंट लगाए गए हैं, लेकिन ड्यूटी के दौरान कई बार सोशल डिस्टेंसिंग का पालन करना संभव नहीं हो पाता। भीड़ कंट्रोल करने के लिए जवानों को अपनी सुरक्षा दांव पर लगानी पड़ती है। इस वक्त कुंभ मेला क्षेत्र में करीब छह हजार जवानों की ड्यूटी लगी है। कोरोना संक्रमण का सबसे ज्यादा खतरा इन्हीं पर मंडरा रहा है। अगर एक भी जवान कोरोना संक्रमित होता है, तो कंपनी के दूसरे जवानों पर भी संक्रमण का खतरा मंडराने लगता है। हरिद्वार जिले में कोरोना संक्रमण के केस भी तेजी से बढ़ रहे हैं। ऐसे में सुरक्षित कुंभ आयोजन के साथ संक्रमण की रोकथाम करना पुलिस और प्रशासन के लिए बड़ी चुनौती साबित हो रहा है।

Latest Uttarakhand News

Disclaimer

हम वेबसाइट पर डाटा संग्रह टूल्स, जैसे कुकीज के माध्यम से आपकी जानकारी एकत्र करते हैं ताकि आपको बेहतर अनुभव प्रदान कर सकें, ट्रैफिक का विश्लेषण कर सकें, कॉन्टेंट व्यक्तिगत तरीके से पेश कर सकें और हमारे पार्टनर्स, जैसे की Google के साथ लक्षित विज्ञापन पेश करने के लिए उपयोग कर सकें। हमारी Privacy Policy और Terms & Conditions पढ़ें, और अपनी सहमति देने के लिए Agree पर क्लिक करें।