उत्तराखंड: बेरीनाग में पूर्व सैनिक के घर में आ धमका गुलदार..दो लोगों पर किया हमला

गुलदार के हमले में पूर्व सैनिक समेत दो लोग गंभीर रूप से घायल हुए हैं। घायलों को इलाज के लिए अस्पताल में भर्ती कराया गया है।

कोरोना के बढ़ते कहर के बीच हिंसक जानवर ग्रामीण क्षेत्रों में दहशत का सबब बने हुए हैं। कहीं हाथियों का आतंक चरम पर है तो कहीं गुलदार बस्तियों में घुसकर लोगों पर हमला कर रहे हैं। मामला पिथौरागढ़ के बेरीनाग क्षेत्र का है। जहां एक गुलदार ने दिनदहाड़े पूर्व सैनिक के घर में घुसकर दो लोगों पर हमला कर दिया। घटना के बाद क्षेत्र में दहशत का माहौल है। लोग घर से बाहर निकलने से घबरा रहे हैं। घटना जवाहर चौक क्षेत्र की है। यहां पूर्व सैनिक कुंडल सिंह मनराल अपने परिवार के साथ रहते हैं। बीते रोज जब घर के लोग अपने रोजमर्रा के कामों में व्यस्त थे, तभी एक गुलदार घर में धमक पड़ा। गुलदार को देख घर में मौजूद सदस्य चीखने-चिल्लाने लगे। लोगों के शोर मचाने के बाद गुलदार बाहर बरामदे में दुबक कर बैठ गया। लोगों को लगा कि गुलदार जंगल की तरफ चला जाएगा, लेकिन ऐसा नहीं हुआ। आंगन में बैठा गुलदार अचानक कुंडल सिंह मनराल पर झपट पड़ा.

यह भी पढ़ें - DIG गढ़वाल नीरू गर्ग की वॉर्निंग..कर्फ्यू में लापरवाही मिली तो CO पर होगी कार्रवाई
कुंडल सिंह के शोर मचाने पर भूपेंद्र सिंह भंडारी उन्हें बचाने के लिए मौके पर पहुंचे, तो गुलदार ने उन पर भी हमला कर दिया। बाद में आसपास के लोगों के शोर मचाने पर गुलदार बस्ती के रास्ते से जंगल की ओर भाग गया। गुलदार के हमले में घायल कुंडल सिंह मनराल और भूपेंद्र सिंह भंडारी को इलाज के लिए सीएचसी बेरीनाग में एडमिट कराया गया है। घटना की सूचना मिलने पर वन विभाग की टीम गश्त के लिए क्षेत्र में पहुंची। गुलदार की दस्तक से क्षेत्र में दहशत है। वहीं वन अधिकारियों ने लोगों से सतर्क रहने की अपील की है। बता दें कि पिथौरागढ़ के साथ चंपावत के बाराकोट में भी गुलदार की बढ़ती धमक से लोग डरे हुए हैं। यहां बैड़ाओड़ में गुलदार कई मवेशियों को अपना निवाला बना चुका है। कई बार गुलदार दिन के वक्त भी गांव में घूमता दिखाई देता है। लोगों ने वन विभाग से गुलदार के आतंक से निजात दिलाने की मांग उठाई है।

Latest Uttarakhand News

Disclaimer

हम वेबसाइट पर डाटा संग्रह टूल्स, जैसे कुकीज के माध्यम से आपकी जानकारी एकत्र करते हैं ताकि आपको बेहतर अनुभव प्रदान कर सकें, ट्रैफिक का विश्लेषण कर सकें, कॉन्टेंट व्यक्तिगत तरीके से पेश कर सकें और हमारे पार्टनर्स, जैसे की Google के साथ लक्षित विज्ञापन पेश करने के लिए उपयोग कर सकें। हमारी Privacy Policy और Terms & Conditions पढ़ें, और अपनी सहमति देने के लिए Agree पर क्लिक करें।