उत्तराखंड के जांबाज को मिला परम विशिष्ट सेवा मेडल, हर मोर्चे पर दिया आतंकियों को करारा जवाब

लेफ्टिनेंट जनरल एके भट्ट (Lt Gen Anil Kumar Bhatt Param Vishisht Seva Medal) 30 जून 2020 को रिटायर हो गए थे। उन्हें परम विशिष्ट सेवा मेडल से अलंकृत किया गया है।

उत्तराखंड के एक और जांबाज को राष्ट्रपति द्वारा परम विशिष्ट सेवा मेडल (Lt Gen Anil Kumar Bhatt Param Vishisht Seva Medal) से अलंकृत किया गया है। ये हैं टिहरी गढ़वाल के कीर्तिनगर के लेफ्टिनेंट जनरल अनिल कुमार भट्ट। चाहे बात सर्जिकल स्ट्राइक की हो, डोकलाम विवाद की हो..या जब देश की पश्चिमी या उत्तरी सीमा पर संकट के बादल उमड़ पड़े थे तब उत्तराखंड के इसी जाबांज अफसर ने अपनी विलक्षण बुद्धि और कुशलता के साथ परिस्थितियों का डटकर सामना किया और जीत हासिल की। उन्होंने अपने कार्यकाल के दौरान कई बड़ी उपलब्धियां हासिल की हैं। उनमें से एक है पीओके में हुई सर्जिकल स्ट्राइक के दौरान प्राप्त की गई सफलता। जी हां, पाकिस्तान को सर्जिकल स्ट्राइक के जरिए मुंहतोड़ जवाब देने में लेफ्टिनेंट जनरल एके भट्ट की भी बहुत बड़ी भूमिका है। उन्होंने डोकलाम विवाद के दौरान भी बहुत बेहतरीन तरीके से काम किया और अपनी काबिलियत एवं हिम्मत का प्रदर्शन किया। लेफ्टिनेंट जनरल भट्ट मूल रूप से कीर्तिनगर के खतवाड़ गांव के रहने वाले हैं। उनका परिवार पिछले 50 सालों से अधिक समय से मसूरी में रह रहा है। आगे पढ़िए
यह भी पढ़ें - पौड़ी गढ़वाल के लाल ने बढ़ाया देवभूमि का मान, राष्ट्रपति ने दिया अति विशिष्ट सेवा मेडल

Latest Uttarakhand News

Disclaimer

हम वेबसाइट पर डाटा संग्रह टूल्स, जैसे कुकीज के माध्यम से आपकी जानकारी एकत्र करते हैं ताकि आपको बेहतर अनुभव प्रदान कर सकें, ट्रैफिक का विश्लेषण कर सकें, कॉन्टेंट व्यक्तिगत तरीके से पेश कर सकें और हमारे पार्टनर्स, जैसे की Google के साथ लक्षित विज्ञापन पेश करने के लिए उपयोग कर सकें। हमारी Privacy Policy और Terms & Conditions पढ़ें, और अपनी सहमति देने के लिए Agree पर क्लिक करें।