उत्तराखंड: ऑनलाइन करना चाहा 149 का मोबाइल रिचार्ज, लुट गए 58 हजार रुपये

अल्मोड़ा जिले से एक ऐसी खबर सामने आई है जिसे जानकर और पढ़ने के बाद आपको भी सावधान रहने की जरूरत है।

साइबर क्राइम आज के दौर में ठगी का सबसे आसान जरिया बन चुका है। खास तौर पर उत्तराखंड के भोले-भाले लोग साइबरक्राइम स्पेशलिस्ट की निगाहों में है। कभी खबर आती है कि ऑनलाइन कुत्ता बेचने के नाम पर लाखों रुपए की ठगी हो गई तो कभी खबर आती है ऑनलाइन डिलीवरी के नाम पर लाखों रुपए हड़प लिए गए। इसके बावजूद भी लोग सतर्क होने का नाम नहीं ले रहे हैं। लगातार लोग ठगी का शिकार हो रहे हैं। इस बीच एक हैरान कर देने वाली खबर अल्मोड़ा जिले से आ रही है। जहां 149 के रिचार्ज के नाम पर युवक के खाते से 58000 हड़प लिए गए। यहां गोविंद सिंह बिष्ट नाम के एक व्यक्ति को 149 का मोबाइल रिचार्ज करवाना भारी पड़ गया। उन्होंने पुलिस को तहरीर दी है और कहा है कि वह 9 सितंबर को अपने मोबाइल पर 149 वाला रिचार्ज करवाना चाहते थे लेकिन वह फेल हो गया। इसके बाद उन्हें एक कॉल आया और कॉल करने वाले व्यक्ति ने कहा कि वह एसबीआई के कस्टमर केयर से बात कर रहा है। इसके बाद उस व्यक्ति ने गोविंद सिंह बिष्ट को भरोसे में लिया और उन्हें anydesk app अपने मोबाइल पर डाउनलोड करने के लिए कहा। जैसे ही गोविंद सिंह बिष्ट ने यह एप्लीकेशन अपने मोबाइल फोन में डाउनलोड की तो अचानक उनके खाते से 58000 से ज्यादा रुपए उड़ गए। लमगड़ा के थाना अध्यक्ष सुनील सिंह बिष्ट ने मामले को गंभीरता से लिया है और जांच के आदेश दे दिए हैं। आपको बता दें कि उत्तराखंड में लगातार साइबर क्राइम की शिकायत आ रही है। हाल ही में देहरादून में भी ऐसी ही कुछ घटना हुई। यहां एक महिला अपनी बेटी को बर्थडे गिफ्ट पर गोल्डन रिट्रीवर कुत्ता दिलाना चाहती थी। लेकिन 15000 के कुत्ते के ऑनलाइन डिलीवरी के नाम पर महिला को लाखों रुपए की चपत लग गई। हालांकि पुलिस ने आरोपी को गिरफ्तार भी कर लिया है। अब देखते हैं कि इस मामले में पुलिस क्या मदद करती है।
यह भी पढ़ें - उत्तराखंड: फेसबुक पर प्यार के बाद कर ली शादी, अब सब लूटकर फरार हुई लड़की

Latest Uttarakhand News

Disclaimer

हम वेबसाइट पर डाटा संग्रह टूल्स, जैसे कुकीज के माध्यम से आपकी जानकारी एकत्र करते हैं ताकि आपको बेहतर अनुभव प्रदान कर सकें, ट्रैफिक का विश्लेषण कर सकें, कॉन्टेंट व्यक्तिगत तरीके से पेश कर सकें और हमारे पार्टनर्स, जैसे की Google के साथ लक्षित विज्ञापन पेश करने के लिए उपयोग कर सकें। हमारी Privacy Policy और Terms & Conditions पढ़ें, और अपनी सहमति देने के लिए Agree पर क्लिक करें।