पहाड़ में ये हाल है...अस्पताल की OPD में घुसा सांड, मरीजों में अफरा-तफरी

गनीमत रही कि इस दौरान ओपीडी में ज्यादा भीड़ नहीं थी, वरना कोई हादसा हो सकता था। सांड को ओपीडी में घूमते देख मरीज भी बुरी तरह घबरा गए। आगे पढ़िए पूरी खबर

प्रदेश में सड़कों पर घूमते आवारा पशु मुसीबत का सबब बने हुए हैं। शहर से लेकर गांव तक सड़कों पर बस इन्हीं का राज चल रहा है। बाजार में रोड पर बैठे पशुओं की वजह से आए दिन जाम लगता है, कई बार हादसे भी हो जाते हैं। अब बागेश्वर में ही देख लें, यहां एक सांड सड़क पर घूमते-घूमते जिला अस्पताल परिसर में घुस गया। परिसर में घूमने तक तो ठीक था, लेकिन सांड बाद में टहलते हुए ओपीडी तक जा पहुंचा, जिससे मौके पर हड़कंप मच गया। गनीमत रही कि इस दौरान ओपीडी में ज्यादा भीड़ नहीं थी, वरना कोई हादसा हो सकता था। सांड को ओपीडी में घूमते देख मरीज भी बुरी तरह घबरा गए थे। बाद में मौके पर मौजूद अस्पताल के कुछ कर्मचारियों ने सांड को किसी तरह बाहर खदेड़ा। इस दौरान वहां अफरा-तफरी मची रही। जानकारी के मुताबिक बीते दिन क्षेत्र के मरीज जिला अस्पताल में आए हुए थे। सभी मरीज ओपीडी में बैठे थे। मरीजों में महिलाएं और बच्चे भी थे। तभी एक सांड टहलते हुए अस्पताल परिसर में दाखिल हो गया। सांड को देखकर ओपीडी में जांच कराने आए मरीजों और तीमारदारों में अफरा-तफरी मच गई

यह भी पढ़ें - उत्तराखंड: ड्राइविंग लाइसेंस धारकों के लिए गुड न्यूज..परिवहन मंत्रालय ने दी खुशखबरी
ओपीडी में सांड को घूमते देख लोग सन्न रह गए। गनीमत रही कि इस दौरान सांड ने किसी को कोई नुकसान नहीं पहुंचाया। बाद में लोगों ने अस्पताल के कर्मचारियों को सूचना दी। जिसके बाद कर्मचारी मौके पर पहुंचे और किसी तरह सांड को बाहर खदेड़ दिया। मौके पर मौजूद लोगों ने बताया कि अस्पताल प्रबंधन की लापरवाही के चलते इस तरह की घटनाएं पहले भी देखने को मिली हैं। अस्पताल परिसर में आवारा पशु घूमते रहते हैं, लेकिन इस बार तो सांड सीधे ओपीडी में पहुंच गया। शुक्र है कि घटना के वक्त ओपीडी में ज्यादा भीड़ नहीं थी। सांड को देख लोग इधर-उधर भागने लगे। बाद में कुछ कर्मचारियों ने सांड को बाहर खदेड़ा, तब कहीं जाकर लोगों ने राहत की सांस ली। वहीं जिला अस्पताल के सीएमएस एसपी त्रिपाठी ने बताया कि अस्पताल में सांड घुसने की उन्हें कोई जानकारी नहीं है। नगर पालिका के अधिकारियों ने भी शहर के लोगों को आवारा पशुओं से जल्द निजात दिलाने की बात कही है। ईओ राजदेव जायसी के मुताबिक आवारा जानवरों को गौ सदन भेजने की तैयारी चल रही है।

Latest Uttarakhand News

Disclaimer

हम वेबसाइट पर डाटा संग्रह टूल्स, जैसे कुकीज के माध्यम से आपकी जानकारी एकत्र करते हैं ताकि आपको बेहतर अनुभव प्रदान कर सकें, ट्रैफिक का विश्लेषण कर सकें, कॉन्टेंट व्यक्तिगत तरीके से पेश कर सकें और हमारे पार्टनर्स, जैसे की Google के साथ लक्षित विज्ञापन पेश करने के लिए उपयोग कर सकें। हमारी Privacy Policy और Terms & Conditions पढ़ें, और अपनी सहमति देने के लिए Agree पर क्लिक करें।