बदरीनाथ धाम में नमाज पढ़ने का मामला आग की तरह फैला, 15 लोगों के खिलाफ केस दर्ज

बदरीनाथ धाम में नमाज पढ़ने के मामले ने पकड़ी तूल, ठेकेदार समेत 15 लोगों के खिलाफ पुलिस ने दर्ज किया मुकदमा।

बकरीद में बद्रीनाथ धाम में नमाज पढ़ने की खबर ने तूल पकड़ ली है। हालांकि पुलिस ने इस खबर को महज एक अफवाह बताया है मगर फिर भी सोशल मीडिया पर इस खबर ने बवाल मचा दिया है। लोग पुलिस और प्रशासन की कड़ी निंदा कर रहे हैं और दोषियों के खिलाफ सख्त से सख्त कार्यवाही की मांग कर रहे हैं। अब इस बात में कितनी सच्चाई है यह तो वक्त ही बताएगा मगर फिलहाल पुलिस गहराई से मामले की जांच में जुट गई है। इस मामले में पुलिस ने बदरीनाथ धाम में ईद की नमाज पढ़ने के मामले में ठेकेदार समेत 15 लोगों के खिलाफ आपदा एक्ट के तहत मुकदमा दर्ज कर दिया है। जोशीमठ के जनप्रतिनिधियों एवं लोगों ने उपजिलाधिकारी से मामले में सख्त कार्यवाही की मांग की है। 21 जुलाई को सोशल मीडिया के जरिए यह बात फैली थी कि बदरीनाथ धाम में विशेष समुदाय के लोगों द्वारा बकरीद के दिन नमाज पढ़ी गई है। सोशल मीडिया पर फैली इस बात ने इस कदर तूल पकड़ी कि अब लोगों के बीच इसको लेकर भारी आक्रोश साफ तौर पर झलक रहा है।

यह भी पढ़ें - उत्तराखंड: आज 4 जिलों की मुश्किलें बढ़ाएगा मौसम, भारी से भारी बारिश का अलर्ट जारी
बात तो यहां तक पहुंच गई थी कि विश्व हिंदू परिषद हिंदू जागरण मंच और बजरंग दल के नेता ज्ञापन लेकर सीधा कैबिनेट मंत्री सतपाल महाराज के पास पहुंच गए थे और उन्होंने कैबिनेट मंत्री को ज्ञापन सौंप कर कार्यवाही की मांग की थी। हालांकि चमोली पुलिस ने इस बात को अफवाह बताया है। चमोली पुलिस का कहना है कि सोशल मीडिया पर धाम में नमाज पढ़े जाने को लेकर भ्रमल संदेश फैलाया जा रहा है। पुलिस के बयान के बावजूद भी वहां पर लोगों का आक्रोश कम होता हुआ नहीं दिखाई दे रहा है। जोशीमठ के लोगों ने आरोपियों पर कड़ी कार्यवाही न होने पर आंदोलन की चेतावनी भी दी है। उप जिलाधिकारी कुमकुम जोशी का कहना है कि मामले की गहराई से जांच की जा रही है। ठेकेदार समेत 15 लोगों पर मुकदमा दर्ज किया गया है। आरोप सच साबित होने पर आरोपियों को कड़ी सजा मिलेगी।

यह भी पढ़ें - गढ़वाल: बीच सड़क पर स्लिप हुई स्कूटी, दर्दनाक हादसे में डिप्टी रेंजर की मौत
चमोली पुलिस ने बताया कि इन दिनों बद्रीनाथ में निर्माण कार्य चल रहा है और बकरीद के दिन विशेष समुदाय के ठेकेदार एवं मजदूरों ने अपने कमरों में नमाज अदा की थी मगर लोगों के आक्रोश को देखते हुए पुलिस ने ठेकेदार नाजिर, मोहम्मद आजम समेत 12 अन्य लोगों के खिलाफ नामजद मुकदमा दर्ज किया है। वहीं बद्रीनाथ के तीर्थ पुरोहितों ने भी इस पूरे मामले की कड़ी निंदा करते हुए इसको शर्मनाक बताया है। ब्रह्मकपाल तीर्थ पुरोहित पंचायत के प्रवक्ता डॉक्टर बृजेश सती ने कहा है कि जिस धाम में शंख भी नहीं बजता वहां नमाज पढ़ना गलत है और अपराध है। उन्होंने कहा है कि दोषियों के खिलाफ सख्त से सख्त कार्यवाही की जानी चाहिए। वहीं केदार सभा के।अध्यक्ष विनोद शुक्ला, महामंत्री कुबेर पोस्ती सहित कई लोगों ने इस पूरे प्रकरण को शर्मनाक बताया है और प्रदेश सरकार से उच्चस्तरीय जांच की मांग की है।

Latest Uttarakhand News

Disclaimer

हम वेबसाइट पर डाटा संग्रह टूल्स, जैसे कुकीज के माध्यम से आपकी जानकारी एकत्र करते हैं ताकि आपको बेहतर अनुभव प्रदान कर सकें, ट्रैफिक का विश्लेषण कर सकें, कॉन्टेंट व्यक्तिगत तरीके से पेश कर सकें और हमारे पार्टनर्स, जैसे की Google के साथ लक्षित विज्ञापन पेश करने के लिए उपयोग कर सकें। हमारी Privacy Policy और Terms & Conditions पढ़ें, और अपनी सहमति देने के लिए Agree पर क्लिक करें।