गढ़वाल: मोख मल्ला गांव में भालू का खौफ, घास काटने गई महिला को मार डाला..जंगल में मिली लाश

जंगल में घास लेने गई मोख मल्ला गांव (Chamoli Mokh Malla Village Asha Devi Bear) की एक वृद्ध महिला को भालू ने जानलेवा हमला करके महिला को मौत के घाट उतार दिया.

उत्तराखंड के पर्वतीय क्षेत्रों में जंगली जानवरों का आतंक लगातार बढ़ता जा रहा है. गुलदार से लेकर जंगली भालू तक हर कोई इस समय खतरे का सबब बना हुआ है. राज्य के अधिकांश पहाड़ी इलाकों में लोग घर से बाहर अकेले जाने से डर रहे हैं और काम करने से भी कतराने लगे हैं. कारण है जंगली जानवरों का भय. हिंसात्मक रूप धर चुके जंगली जानवर आखिर किस हद तक लोगों के लिए खतरनाक हो सकते हैं यह चमोली (Chamoli Mokh Malla Village Asha Devi Bear) के घाट इलाके में साफ तौर पर देखा जा सकता है. बता दें कि चमोली जिले के घाट इलाके में बीते सोमवार को जंगल में घास लेने गई मोख मल्ला गांव की एक वृद्ध महिला को भालू ने जानलेवा हमला करके महिला को मौत के घाट उतार दिया. दिन दहाड़े महिला पर भालू के हमले से जहां पूरे गांव में दहशत का माहौल है वहीं महिला की मौत से दुखी एवं आक्रोशित ग्रामीणों ने वन विभाग से भालू को पकड़ने के लिए क्षेत्र में पिंजरे लगाने की मांग की है. इसी के साथ प्रशासन और वन विभाग की टीम भी सूचना मिलते ही वहां पहुंची और घटना का जायजा लिया.

यह भी पढ़ें - चाकीसैंण में भालू का खौफ, शादी से लौट रहे शख्स पर किया हमला..1 हफ्ते 3 लोगों पर हमला
चलिए अब आपको पूरी घटना से अवगत कराते हैं. घटना चमोली जिले के घाट ब्लाक के मोख मल्ला गांव की है. सोमवार सुबह करीब 10 बजे मोख मल्ला गांव की आशा देवी (62) पत्नी हीरामणि तिवारी रोज की तरह जंगल में घास लेने गई थीं. घास काटने के दौरान वहां अचानक ही एक जंगली भालू आ गया और उसने महिला पर हमला कर दिया. बहुत ही बेरहमी से वो महिला को दूर तक घसीट कर ले गया. महिला ने खुद को बचाने के बहुत प्रयास किए मगर भालू के चंगुल से बच नहीं पाईं. जब देर शाम तक महिला घर नहीं लौटी तो ग्रामीण उसकी खोज में जंगल गए. उन्हें जंगल में महिला का शव मिला. साथ ही घटनास्थल के आसपास भालू भी दिखाई दिया ग्रामीणों ने इसकी सूचना राजस्व पुलिस और वन विभाग को दी. सूचना पर पहुंची पुलिस ने शव कब्जे में ले लिया. घटना के बाद से ग्रामीणों के बीच हड़कंप मचा हुआ है और सब बेहद डरे हुए हैं. मोख-कुंडी के क्षेत्र पंचायत सदस्य सोबन सिंह नेगी ने बताया कि क्षेत्र में लगातार भालू की दहशत बनी हुई है. भालू के डर से महिलाएं खेतों में जाने से भी कतरा रही हैं. ग्रामीण शाम होते ही घरों में दुबक रहे हैं. साथ ही बदरीनाथ वन प्रभाग के डीएफओ आशुतोष सिंह का कहना है कि प्रभावित क्षेत्र (Chamoli Mokh Malla Village Asha Devi Bear) में वन अधिकारियों की टीम भेजी जाएगी. प्रभावित परिवार को नियमानुसार मुआवजा दिया जाएगा.

Latest Uttarakhand News

Disclaimer

हम वेबसाइट पर डाटा संग्रह टूल्स, जैसे कुकीज के माध्यम से आपकी जानकारी एकत्र करते हैं ताकि आपको बेहतर अनुभव प्रदान कर सकें, ट्रैफिक का विश्लेषण कर सकें, कॉन्टेंट व्यक्तिगत तरीके से पेश कर सकें और हमारे पार्टनर्स, जैसे की Google के साथ लक्षित विज्ञापन पेश करने के लिए उपयोग कर सकें। हमारी Privacy Policy और Terms & Conditions पढ़ें, और अपनी सहमति देने के लिए Agree पर क्लिक करें।